All for Joomla All for Webmasters
Tuesday, July 23, 2019

[gs_logo]

यह सेना (योगीज⛳️सेना) समर्पित उन सबको, जिनके भी हृदय में सेवा भाव रहा।
सेवा की गंगा बहाते रहे, ऐसा पावन प्रयास रहा।
जो भी सेवक थे,सेवक हैं, और सेवा का विस्तार किया।
पूर्व से पश्चिम! उत्तर से दक्षिण, ऐसे स्थल को, जहां भी उनका वास रहा।
यह कर्म समर्पित उन सबको जिनके भी हृदय में सेवा भाव रहा।

यह समर्पित उन गुरुओं को (पं श्रीराम शर्मा आचार्य जी व योगी बाल किशन जी), जिनने मुझ पर उपकार किया।

जिनकी कृपा वह शक्तिपात से,मुझ में ध्यान बीज आगाज हुआ।
जिसने ऐसे बदला घटना-घटकों को, कि मुझे आत्मस्वरुप का ज्ञान हुआ।

उन योगी-सिद्ध व संयासी को, लक्ष्य जिनका युग निर्माण रहा।

यह कृति (योगीज⛳️सेना) समर्पित उन सबको, जिनके भी हृदय में सेवा भाव् रहा।।

मैं आभारी उन परिजन का,जिन्हें था मै नन्हा नादान मिला।
उनके लालन-पालन का है यह बल, हृदय में सदगुण सम्मान रहा।
मैं आभारी उन संगी साथी सहपाठी का,जिनका प्रेम अपार मिला।
पत्रिका पुस्तक पत्रों के लेखन साधक, जिन का सहयोग उपकार रहा।

यह कृति (कविता) समर्पित उन सबको, जिनके भी हृदय में सेवा भाव् रहा।।

यह ⛳️सेना⛳️ समर्पित उन बलिदानों ⚔️को, कि! आजादी🇮🇳परिणाम रहा।

उन हुतात्माओं का कल्पित 🙄भारत ,अब हम सबका अभियान⛳️रहा।
यह समर्पित ऐसे PM, CM, DM को, जिनका सेवा-श्रम श्रृंगार रहा।

21 जून के योग दिवस को, जब योगमय सारा जहान रहा।
हिंदुस्तान के उस योगमंत्र को, जिससे विश्व हमें पहचान रहा।

यह कृति समर्पित उन सबको, जिनके भी हृदय में सेवा भाव रहा।

(हर व्यक्ति के निर्माण में पूरे समाज का प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष योगदान होता है अतः-)

मैं कृति हूँ आप सब के द्वारा कृत, मैं तो बस निर्माण रहा।
मैं निर्माण हूँ आप सबका फिर,यह (कृति-योगीज सेना) मेरा कैसे निर्माण रहा।
तो यह कृति (योगीज सेना) है,आप सब के द्वारा ही कृत,ऐसा मेरा विश्वास रहा।
यह कृति समर्पित तुम सबको, क्योंकि यह सब तुम्हारा ही निर्माण रहा।
यह कृति समर्पित उन सबको जिनके भी हृदय में सेवा भाव रहा।

जो सबमें है(ब्रह्म-जो हर कण में है) सो मैं भी हूँ(सोअह्म्- ब्रम्ह स्वरुप आत्मा), पढ़कर ( yogissena.com )जिसका ऐसा निश्चल भाव् रहा।
वह परसेवा (परमार्थ) को ही स्वसेवा (स्वार्थ) मानेगा, तो सफल समझो यह प्रयास रहा।
यह कृति समर्पित उन सबको जिनके भी हृदय में सेवा भाव रहा।

{ॐ श्रीराम}

⛳️🇮🇳भाव प्रस्तुति🇮🇳⛳️

योगगुरु डॉ संजीव कुमार

(राष्ट्रीय🇮🇳अध्यक्ष – योगीज⛳️सेना)

[gs_logo]

WhatsApp chat JOIN GROUP & ASK ?